10 Lines on Kite in Detail in Hindi

पतंग पर 10 वाक्य हिंदी में – 10 Lines on Kite in Detail in Hindi

10 Lines on Kite in Detail in Hindi-हेलो दोस्तों, स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट OnlyHindiGyan.com पर। आज हम अपना लेख एक ऐसे मजेदार वस्तु पर ले कर आए हैं, जिसे बच्चे और नौजवान दोनों ही बहुत पसंद करते हैं। उस वस्तु का नाम है, “पतंग”। रंग बिरंगी पतंगों को उड़ाना सभी को बहुत अच्छा लगता है। और आसमान में उड़ती हुई रंग बिरंगी पतंग देखने में बहुत सुंदर लगती है।
दोस्तों, हिंदुस्तान में पतंग अक्सर मकर सक्रांति के दिन उड़ाई जाती है। इसलिए मकर सक्रांति को पतंगों का त्यौहार भी कहा जाता है। यह दिन साल में एक बार 14 जनवरी को आता है। इस दिन को उत्तरायण भी कहा जाता है। इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करते हैं। इसलिए इसे मकर सक्रांति के नाम से जाना जाता है। इस दिन लोगों का दान पुण्य करना भी शुभ माना जाता है। लेकिन कुछ राज्यों के कई शहरों में पतंग अन्य त्योहार पर भी उड़ाई जाती है। आज हम उसी पतंग के विषय में आपको कुछ अन्य जानकारी भी देंगे तो आएगी पढ़ते हैं

10 Lines on Kite in Detail in Hindi

10 Lines on Kite in Detail in Hindi। पतंग पर 10 वाक्य हिंदी में

  1. पतंग कागज और पतली लकड़ी की सहायता से बनाई जाती है।
  2. वर्तमान समय में पतंग कागज के अलावा प्लास्टिक की पतली पन्नी की सहायता से भी बनाई जाती है।
  3. पतंग के चार कोने होते हैं, जिनमें से नीचे वाला कोना लंबे आकार का होता है।
  4. पतंग को धागे से बांधकर हवा में उड़ाया जाता है।
  5. धागा लकड़ी से बने बेलनाकार चरखी नामक वस्तु पर लिपटा हुआ होता है, जिसे धीरे-धीरे उड़ती हुई पतंग के साथ खोला जाता है।
  6. यह हवा के दबाव के साथ उड़ती है। जिस दिशा की तरफ हवा चलती है, यह उसी दिशा में उड़ती है।
  7. यह अलग-अलग रंग की होती है, कुछ पतंग रंग बिरंगी भी होती है।
  8. भारत देश में पतंग मकर सक्रांति के दिन उड़ाई जाती है।
  9. किस दिन सभी लोग अपनी छतों पर जाकर पतंग उड़ाते हैं।
  10. मकर सक्रांति के दिन तिल के द्वारा बने हुए व्यंजन भी बनाए जाते हैं।

5 Lines on Kite in Detail in Hindi- पतंग पर 5 वाक्य हिंदी में

5 Lines on Kite in Detail in Hindi

  1. वैसे पतंग मनोरंजन के लिए उड़ाई जाती है, जिसे बच्चे वह नौजवान बड़े उत्साह से उड़ाते हैं।
  2. लोग पतंग को अन्य व्यक्ति द्वारा उड़ाई जा रही पतंग से लड़ाते हैं, और किसी एक की पतंग कटने का इंतजार करते हैं।
  3. वर्तमान समय में पतंग छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी भी बनाई जाती है।
  4. भारत देश में पतंग उड़ाने का आयोजन रखा जाता है, जिसमें पर्यटक भी बड़े उत्साह से भाग लेते हैं।
  5. सर्वप्रथम पतंग चीन में एक व्यक्ति द्वारा उड़ाई गई थी। इसीलिए पतंग को चीन का आविष्कार माना गया है।

पतंग उड़ाने में सावधानियाँ 

पतंग उड़ाना एक मनोरंजन कार्य है। जिसे लोग अपने मनोरंजन के लिए करते हैं। लेकिन, वर्तमान समय में इससे कुछ हानियां भी देखी जा रही है। आज हम अपने लेख में दुर्घटनाओं को भी बताना चाहते हैं जो पतंग उड़ाते समय हो जाती है।

  1. कभी-कभी पतंग उड़ाते व लूटते समय बच्चे छत पर से गिर जाया करते हैं। जिससे उन्हें गंभीर चोट लग सकती है। ऐसे में बच्चों का पतंग उड़ाते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए।
  2. पतंग उड़ाने में कुछ लोग ऐसे खतरनाक मंजे या धागे का उपयोग करते हैं। जो कांच के बारीक बुरादे से बना होता है।
  3. जिससे आसमान में उड़ने वाले पक्षी के पंख कट जाया करते हैं। जिससे उन्हें काफी नुकसान होता है।
  4. ऐसे खतरनाक मंजे के उपयोग से पक्षी ही नहीं अपितु मनुष्य की भी हाथ, गर्दन व उंगलियां कट जाया करती हैं।
  5. इसीलिए पतंग उड़ाते समय सादा धागे का उपयोग करना चाहिए।

यह भी पढ़ें-    चिड़िया पर 10 वाक्यों का निबंध -10 Lines on Sparrow in Hindi 
बुलबुल पक्षी पर हिंदी में 10 वाक्य – 10 Lines on Bulbul In Hindi for Students

इस प्रकार आज के हमारे 10 Lines on Kite in Detail in Hindi इस लेख में आपने पतंग के साथ-साथ उससे होने वाले कुछ दुर्घटनाओं को भी जाना है। आज का हमारा यह लेख आपको कैसा लगा आप हमें कमेंट करके जरूर बताएं। ऐसे हमने लिख जाने के लिए भी आप हमें कमेंट कर सकते हैं। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published.